Rajasthan Indira Rasoi Yojana 2023: इंदिरा रसोई योजना ऑनलाइन आवेदन

हाल ही में राजस्थान सरकार द्वारा राज्य के अधिक आर्थिक रूप से कमजोर नागरिकों के लिए एक नई योजना का शुभारंभ किया गया है। जिसका नाम Indira Rasoi Yojana है। इस योजना को इसलिए शुरू किया गया है क्योंकि राज्य में काफी लोग इस स्थिति में है की वह ठीक से दो वक्त का खाना भी नहीं खा सकते हैं। राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी ने राज्य में “कोई भी भूखा नहीं सोए” के विकल्प को साकार करने हेतु राजस्थान इंदिरा रसोई योजना का शुरू किया है। आज के इस लेख के तहत हम आपको Rajasthan Indira Rasoi Yojana 2023 से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी देने वाले हैं जैसे- इस योजना का उद्देश्य, लाभ एवं विशेषताएं, बजट, पात्रता मानदंड, आदि। हमारा आपसे अनुरोध है,कि आप हमारे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

Rajasthan Indira Rasoi Yojana 2023

राजस्थान के आदरणीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी द्वारा 20 अगस्त को राजस्थान इंदिरा रसोई योजना का शुभारंभ किया गया है। जिसके माध्यम से राज्य सरकार राज्य के गरीब लोगों को 8 रुपया में एक वक्त का ताजा और पौष्टिक खाना प्रदान किया जाएगा। राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा बताया गया है, कि उन्होंने इस योजना के तहत अब तक राज्य के 213 नगरीय निकायों में 358 इंदिरा रसोइयों को आरंभ किया जा चुका है। राजस्थान के मुख्यमंत्री जी ने 18 सितंबर 2022 को जोधपुर में 512 नए इंदिरा रसोइयों का शुभारंभ किया गया है। सब रसोइयों की संख्या को मिलाकर राज्य में 870 रसोईया उपलब्ध कराई जा चुकी है। आपको बताते चलें की मुख्यमंत्री जी ने बताया है,कि इस रसोइयों का संचालन एनजीओ द्वारा किया जाएगा। जिसके लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित जिला स्तरीय समन्वय और मॉनिटरिंग समिति द्वारा रसोई चलाने हेतु 300 से अधिक एनजीओ का चयन किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से राजस्थान सरकार रोज़ाना 1.34 लाख लोग एवं हर वर्ष  4.87 थालियां परोसी जाएंगी। Indira Rasoi Yojana 2023 के माध्यम से अब राज्य के वह नागरिक जो बिना खाए सो रहे हैं उन्हें बहुत कम मूल्य पर एक ताजा और पौष्टिक थाली प्रदान की जाएगी।

हाइलाइट्स ऑफ़ राजस्थान इंदिरा रसोई योजना

योजना का नामIndira Rasoi Yojana
वर्ष 2023
आरंभ की गईराजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी द्वारा
उद्देश्यराज्य के गरीब नागरिकों को दो वक्त का स्वादिष्ट और पौष्टिक भोजन प्रदान करना
लाभार्थीराजस्थान के सभी गरीब जरूरतमंद लोग
अधिकारिक वेबसाइटhttps://indirarasoi.rajasthan.gov.in/
  

राजस्थान इंदिरा रसोई योजना बजट

राज्य सरकार हर वर्ष प्रतिवर्ष 100 करोड़ रुपए का खर्च का प्रावधान Rajasthan Indira Rasoi Yojana के तहत रखा गया है, अब नई  642 इंदिरा रसोइयों को  संचालित करने की मंजूरी दी जा चुकी है। इन रसोइयों का भी जल्द से जल्द शुभारम्भ की जाएगा। जिसके संचालन हेतु राज्य सरकार का 2022 का बजट 250 करोड़ रुपए खर्च करने का प्रावधान किया गया है। इसके साथ ही राजस्थान इंद्र रसोई योजना के माध्यम से अनुदान हेतु 50% राशि नगर निकायों को देय राज्य वित्त आयोग अनुदान एवं बची 50% प्राथमिकता मुख्यमंत्री सहायता कोष से आवश्यकता होने पर अन्य मदों से पूर्ति की जाएगी। राज्य सरकार द्वारा यह भी जानकारी दी गई है, कि प्रति रसोई को आधारभूत संरचना हेतु 500000 और रसोई के आवर्ती संरचना हेतु 300000 प्रदान किए जाएंगे। राजस्थान इंदिरा रसोई योजना 2023 के तहत जो इंदिरा रसोईया अच्छे कार्य का प्रदर्शन करेगी उन्हें जिला संभाग राज्य स्तर पर 15 अगस्त और 26 जनवरी के शुभ अवसर पर 15 लाख से अधिक राशि पुरस्कार के रूप में प्रदान की जाएगी।

मात्र 8 में इंदिरा रसोई योजना के तहत एक वक्त का भोजन

राजस्थान सरकार द्वारा राज्य के जरूरतमंद एवं गरीब लोगों के लिए Indira Rasoi Yojana को शुरू किया है। जिसके माध्यम से नागरिकों को दो समय दोपहर एवं रात का भोजन खिलाया जाएगा। इस भोजन की थाली के लिए लाभार्थियों को 8 रुपए का भुगतान करना होगा। इस समय के भोजन की थाली में में 25 का खर्च आता है जिसमें से 17 राज्य सरकार द्वारा खर्च किए जाते हैं। इससे पहले शुरू की गई रसोई की थाली में 20 का खर्च आता था जिसमें भी 12 राज्य सरकार द्वारा और 8 लाभार्थियों द्वारा दिए जाते थे। इंदिरा रसोई योजना के तहत लाभार्थियों को सामान्य तौर पर दोपहर का भोजन 1:00 बजे सुबह का भोजन 8:30 बजे एवं रात का भोजन 5:00 बजे से 8:00 बजे तक उपलब्ध कराया जाएगा। इसके साथ ही आपको आपको यह भी बताते कि भोजन की थाली में सौ ग्राम सब्जी, सौ ग्राम दाल, ढाईसौ ग्राम चपाती और अचार उपलब्ध कराया जाएगा।

Indira Rasoi Yojana के तहत किया जाता है पेपरलेस ‌काम

राज्य सरकार राजस्थान इंदिरा रसोई योजना 2023 के तहत पेपर लेंस का काम किया गया है। इसके साथ ही एक इंदिरा रसोई वेब पोर्टल को भी विकसित किया है। जिसके माध्यम से सभी लाभार्थी वास्तविक फोटो अपलोड  का इस्तेमाल करके करेंगे| इसके साथ ही नागरिक के राज्य के नागरिकों के मोबाइल पर मैसेज और स्टेट कॉल सेंटर से लाभार्थियों से नियमित फीडबैक भी लिया जाएगा। रसोई द्वारा आधार ऑथेंटिकेशन प्रक्रिया से ऑनलाइन इनवॉइस जनरेशन और ऑनलाइन भुगतान की व्यवस्था की जाएगी। राजस्थान सरकार द्वारा नगर निकायों भोजन की गुणवत्ता पर निगरानी रखने के लिए हर महीने कम से कम 2 बार इंदिरा रसोई का निरीक्षण करके निरीक्षण रिपोर्ट मोबाइल ऐप के माध्यम से ऑनलाइन प्रेषित करने का भी प्रावधान कर रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के माध्यम से शुरू की गई राजस्थान इंदिरा रसोई योजना की आईडी आधारित प्रक्रिया की मुख्य कार्यकारी अधिकारी नेशनल ई गवर्नन्स डिपार्टमेंट द्वारा जाएगा।

Rajasthan Indira Rasoi Yojana 2022 का उद्देश्य

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी द्वारा इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के सभी गरीब व्यक्तियों को भोजन प्रदान करना है। राज्य में बहुत से ऐसे नागरिक है जो कि महंगाई के कारण अपने दो वक्त का खाना भी नहीं खा सकते है। कभी-कभी उनके सामने ऐसी समस्या भी आती है जब उनके पास पैसे नहीं होते हैं और वह पूरे दिन बिना खाए ही सो जाते हैं। इन दिक्कतों को ही उभरता हुआ देखकर राजस्थान के मुख्यमंत्री ने इंदिरा रसोई योजना राजस्थान को शुरू किया है। जिसके माध्यम से जरूरतमंद नागरिकों को केवल 8 रुपए में एक वक्त का ताजा एवं पोषिक भोजन प्रदान किया जाएगा।

राजस्थान इंदिरा रसोई योजना के लाभ

  • राजस्थान के मुख्यमंत्री द्वारा 20 अगस्त को इंदिरा रसोई योजना राजस्थान की शुरुआत की गई है।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य के जरूरतमंद गरीब लोगों को स्वादिष्ट एवं ताजा दो वक्त का भोजन प्रदान किया जाएगा।
  • राज्य के नागरिकों को योजना के माध्यम से मिलने वाले भोजन का भुगतान केवल 8 रुपए में किया जाएगा। सरकार के
  • इस कदम के माध्यम से राजस्थान के जरूरतमंद लोग आसानी से दो वक्त का भरपेट खाना केवल16 रुपए में खा सकते हैं।
  • इंदिरा रसोई योजना के माध्यम से उनके स्वास्थ्य में भी सुधार उत्पन्न होगा एवं उन्हें भरपेट खाना आसानी से मुहैया हो सकेगा।

Rajasthan Indira Rasoi Yojana 2023 के मुख्य बिंदु

  • राजस्थान सरकार द्वारा राजस्थान इंदिरा रसोई योजना के माध्यम से एक समय में खिलाई जाने वाली थाली 25 की आती है। जिसके लिए लाभार्थी को एक वक्त की थाली के लिए केवल 8 रुपए देने होंगे।
  • आपको बताते चलें सर्वप्रथम जब इस योजना की शुरुआत की गई थी तब एक थाली के 20 रुपए की थी। जिसके लिए भी लाभार्थियों को केवल 8 रुपए ही देने होते थे और 12 रुपए राज्य सरकार द्वारा अनुदान दिया जा रहा था।
  • राजस्थान इंदिरा रसोई योजना के माध्यम से रसोइयों का संचालन एनजीओ द्वारा किया जाएगा।
  • राजस्थान में जिला स्तर पर योजना की जिम्मेदारी जिला कलेक्टर को सौंपी गई है।
  •  जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित जिला स्तरीय सामान्य मानिटरिंग समिति द्वारा लाने हेतु एनजीओ का चयन भी किया जा रहा है।
  • इसके साथ ही राज्य के लाभार्थी का दूर भाषा पर निरंतर फीडबैक  भी दे सकते हैं राजस्थान के आदरणीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी ने योजना में कोई धोखाधड़ी न हो इस कारण Indira Rasoi Yojana 2023 का काम पेपर लेंस के माध्यम से किया है।
  • साथ ही इंदिरा रासोईयों का सरकार द्वारा निगरानी रखने हेतु हर महीने कम से कम 2 बार निरीक्षण भी किया है।
क्षेत्रसंख्यारसोई संख्याविवरण
नगर निगम1087जयपुर 20, कोटा, जोधपुर 16, अजमेर, बीकानेर, जयपुर-10 एवं भरतपुर 5
नगर परिषद341023 रसोई प्रति नगर परिषद
नगर पालिका1691691 रसोई प्रति नगर पालिका
योग213358
Indira Rasoi Yojana 2022 के तहत पात्रता
  • इस योजना का लाभ केवल राजस्थान के निवासी ही उठाने के पात्र हैं।
  • आवेदक गरीब और जरूरतमंद हो जिसकी आय बहुत ही ज्यादा कम हो। वही योजना का लाभ प्राप्त कर सकता है

Leave a Comment